राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले ने कहा कि कोरोना महामारी के इस कठिन दौर में संघ के स्वयंसेवक विभिन्न स्तरों पर देश की सेवा में संलग्न हैं।

हालाँकि उन्होंने यह चेतावनी देते हुये भी कहा कि इस दौरान देश में कतिपय विरोधी ताकतों से बचना भी बेहद जरूरी है। कोविद-19 की इस महामारी ने एक बार फिर देश में चुनौतीपूर्ण स्थिति पैदा कर दी है।

आपने आगे कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कई कार्यकर्ता समाज की जरूरतों को पूरा करने के लिये देशभर में विभिन्न प्रकार के सेवा कार्यों में संलग्न होकर सक्रिय हैं। यह भी सम्भव है कि समाज विद्यातक एवं भारत विरोधी शक्तियाँ इस गम्भीर परिस्थिति का लाभ उठाकर देश में नकारात्मक एवं अविश्वास का वातावरण खड़ा कर सकती हैं।

जानिए कौन हैं दत्तात्रेय होसबोले, जिन्होंने ली भैयाजी जोशी की जगह

श्री होसबोले ने आगे यह भी कहा कि महामारी की संक्रामकता एवं भीषणता इस बार पहले से अधिक गम्भीर है। सैकड़ों परिवारों ने अपने प्रियजनों को भी खोया है। इस आपदा में संत्रस्त सभी देशवासियों के प्रति राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ अपनी संवेदनायें व्यक्त करता है।

महामारी के अचानक विकरालरूप धारण कर लेने से अस्पतालों में बिस्तर, ऑक्सीजन, दवा जैसी आवश्क संसाधनों की कमी के कारण कष्टों का सामना करना पड़ रहा है। भारत जैसे विशाल देश में समस्या का स्वरूप भी वृहद आकार ले लेता है।

मीडिया, प्रचार माध्यमों सहित समाज में सभी वर्गों से श्री होसबोले ने अनुरोध किया है कि समाज में सकारात्मकता, आशा और विश्वास का वातावरण बनाये रखने में अपना अमूल्य योगदान दें। सोशल मीडिया में सक्रिय लोग भी इस दिशा में अपनी विशेष सक्रियता, संयम व सजगता के साथ सकारात्मक भूमिका का निर्वाह करें।

शर्मनाक हरकत- तीन बार दिल्ली के मुख्यमंत्री रह चुके, साथ ही वरिष्ठ नौकरशाह रह चुके अरविन्द केजरीवाल ने राजनीति में नौसिखिया जैसा व्यवहार। कर प्रोटोकाल तोड़ने जैसी गन्दी हरकत की। प्रधानमंत्री कोरोना जैसी राष्ट्रीय आपदा पर देश के ग्यारह राज्यों के मुख्यमंत्रियों और केन्द्र शासित प्रदेश के मुख्यमंत्रियों से चर्चा कर रहे थे।

इसमें व्यापक विचार-विमर्श किया गया। ऐसे राष्ट्रीय आपदा के समय भी अपनी चालाकी, घटिया किस्म की राजनीति के लिये सीधा प्रसारण (लाईव टेलिकास्ट) करा दिया। सूचना प्राप्त होते ही चलती मीटिंग में प्रधानमंत्री ने टोका कि ऐसी आंतरिक बैठकों का सीधा प्रसारण नहीं होता। यह प्रोटोकाल का उल्लंघन है। यद्यपि बाद में केजरीवाल ने माफी भी माँग ली।

महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री के खिलाफ भ्रष्टाचार का मामला दर्ज

मुम्बई। महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री देशमुख के खिलाफ एफ.आई.आर. दर्ज कर ली गयी है। देशमुख के अतिरिक्त कई अज्ञात लोगों पर पूर्व सी.पी. परमवीर सिंह के सौ करोड़ मासिक वसूली सम्बंधी आरोप के मामले में केस दर्ज किया गया है। इसके अंतर्गत सी.बी.आई. ने अनेक स्थानों पर तलाशी ली और छापे मारी की। इन स्थानों में देशमुख का आवास एवं अन्य सम्बन्धित परिसरों को भी शामिल किया गया था। देशमुख पर भ्रष्टाचार के मामले में केस दर्ज किया गया है।

कोरोना : मोदी सरकार का बड़ा फैसला

इस समय कोरोना महामारी के कारण देशभर में हाहाकार मचा हुआ है। कोरोना संक्रमितों की संख्या साढ़े तीन लाख के आसपास पहुँच चुकी है। सारे अस्पताल मरीजों से भरे पड़े हैं। नये-नये संक्रमित मरीजों को अस्पताओं में बेड की उपलब्धता न होने के कारण वहाँ भर्ती नहीं किया जा रहा है। कहीं ऑक्सीजन और अन्य चिकित्सा सम्बंधी उपकरणों एवं दवाओं की किल्लत महसूस हो रही है।

अस्पताल प्रबन्धक और सरकारें अपने स्तर पर भरसक प्रयास भी कर रही हैं लेकिन बढ़ती मरीजों की संख्या ने एक बार फिर भारी परेशानी खड़ी कर दी है। सामाजिक संस्थायें, चिकित्सक, हेल्थ वर्कर्स पूरी तन्मयता से सेवा कार्य में अपनी जान की परवाह किये बिना जुटे हुये हैं। इस आशा और हिम्मत के साथ कि इस कोरोना महामारी पर किसी भी तरह विजय हासिल कर ही लेंगे।

ऑक्सीजन एवं अन्य चिकित्सा संसाधनों के मद्देनजर केन्द्र की मोदी सरकार ने अभी हाल में तीन बड़े फैसले लिये हैं। ताकि संक्रमितों और उनके परिवारों को हो रही परेशानी को कम किया जा सके। इसमें पहला यह है कि ऑक्सीजन, उसके उपकरणों और कोरोना वैक्सीन पर तीन महीने के लिये कस्टम ड्यूटी और हेल्थ सेस को माफ कर दिया गया है।

केन्द्र के इस फैसले से अब इनकी कीमतें कम हो जाने से कुछ राहत मिलने लगेगी। यह फैसला तत्काल प्रभाव से अगले तीन महीने तक लागू रहेगा। सरकार के इस फैसले से मेडिकल ग्रेड ऑक्सीजन, फ्लोमीटर के साथ ऑक्सीजन कंशेन्ट्रेशन रेगुलेटर, कलेक्टर्स और ट्यूबिंग वैक्यूम प्रेशर स्विंग अल अब जार्सन ऑक्सीजन प्लांट्स क्रायोजनिक ऑक्सीजन एअर सेपरेशन युनिट्स को फायदा पहुँचेगा।

इसके अलावा ऑक्सीजन केमिस्टर, ऑक्सीजन फिलिंग सिस्टम, ऑक्सीजन स्टोरेज टैक्स ऑक्सीजन सिलेन्डर इत्यादिक आयात को लेकर सरकार के फैसले के अंतर्गत छूट मिलेगी। वायुसेना ने गत शनिवार को ही सिंगापुर के चाँगी एअरपोर्ट से लिक्विड ऑक्सीजन के चार कन्टेनर्स को लोड किया।

मंत्रि मंडलीय बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि सभी मंत्रालय और विभाग तालमेल से एक साथ काम करेंगे और ऑक्सीजन एवं।मेडिकल सप्लाई की उपलब्धता सुनिश्चित करेंगे। इसके अलावा एअर लिफ्ट के जरिये खाली टेंकर दुर्गापुर तक भेजे गये हैं जिन्हें बाद में सड़क मार्ग से लाया जायेगा।

लेखक :- श्री किशन कछवाहा जी
संपर्क सूत्र :- 9424744170