सुबह धार व दोपहर बाद जबलपुर में उपद्रव, भारी मशक्कत के बाद शांति स्थापित

मंगलवार को धार और जबलपुर में मिलादुन्नबी जुलूस के दौरान मुस्लिम समुदाय के युवकों के द्वारा पुलिस प्रशासन पर जमकर पत्थरबाजी की. बताया जा रहा है कि धार में प्रतिबंधित क्षेत्र से जब पुलिस ने जुलूस रोकने का प्रयास किया तो जुलूस में शामिल कट्टरपंथी उपद्रवियों के द्वारा पुलिस पर पथराव किया गया वहीं जबलपुर में भी कट्टरपंथियों के द्वारा पुलिस पर जलते पटाखे फेंके गए. इससे पहले धार में भी इसी तरह मार्ग परिवर्तित करने पर अड़े लोगों ने पुलिस के समझाने पर पत्थरबाजी शुरू कर दी थी। जानकारी के अनुसार जबलपुर में मुस्लिम समाज की बैठक में अधिकारियों ने पहले ही तय कर दिया था कि अपने ही गली मोहल्ले में जुलूस निकाल सकते हैं।

मिश्रित आबादी से जुलूस निकालने की अनुमति नहीं दी गई थी। इसे लेकर सभी प्रमुख तिराहे-चौराहे पर बेरीकेट लगा दिया गया था। दोपहर दो बजे के लगभग रजा चौक और बहोराबाग से सुब्बाशाह मैदान में जाना था। पूर्व के वर्षों में ये जुलूस अंजुमन में समाप्त होता था। पुलिस ने अंजुमन जाने वाले मार्ग को बेरीकेट लगाकर किले में तब्दील कर दिया था।

जुलूस को मछली मार्केट से होते हुए सुब्बा शाह मैदान तक जाना था, लेकिन मछली मार्केट से अचानक जुलूस में शामिल कुछ युवक सर्राफा की ओर घुसने की कोशिश की और बैरिकेड्स हटाने लगे। पुलिस ने रोका और समझाइश दी तो कुछ लोगों ने जलते हुए पटाखे पुलिस की ओर फेंके। भीड़ को पीछे करने की कोशिश की तो वे एक गली से पथराव करने लगे।

हालात तेजी से बिगड़ते देख पुलिस ने मोर्चा संभाला। पुलिस ने जुलूस में शामिल उपद्रवियों को पीछे की ओर खदेड़ा। दो गली की ओर से उपद्रवी नकाब में पुलिस पर पथराव करने लगे। इस पथराव की अगुवाई 15 वर्ष से लेकर 25 वर्ष की उम्र के युवक कर रहे थे। उपद्रवियों ने कई वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया। पथराव में दर्जन भर आरक्षकों को चोटें आई हैं।

जबलपुर कलेक्टर कर्मवीर शर्मा के अनुसार जुलूस में शामिल कुछ उपद्रवियों ने पुलिस को निशाना बनाकर शहर का माहौल खराब करने की कोशिश की थी। सभी उपद्रवियों की पहचान कर ली गई है। कुछ को हिरासत में लिया गया है।

वहीं धार में ईद मिलादुन्नबी के मौके पर बवाल हो गया है। प्रतिबंधित क्षेत्र से जुलूस निकाल रहे लोगों ने पुलिस की ओर से पहले से लगाए गए बैरिकेड्स को गिरा दिया। जब पुलिस ने रोकने की कोशिश की तो जुलूस में शामिल लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया। थोड़ी देर में पुलिस और जुलूस में शामिल लोगों के बीच झड़प हो गई और भीड़ ने पुलिस पर पत्थर फेंकना शुरू कर दिया। पुलिस ने पहले लोगों को समझाने की कोशिश की, लेकिन उपद्रव बढ़ा तो भीड़ को लाठियों से खदेड़ा गया। जानकारी के अनुसार सुबह नौ बजे जिले के गुलमोहर कॉलोनी में कुछ लोग जुलूस निकालने के लिए जुटे थे। यहां से करीब 1500 से 2000 लोग जुलूस के रूप में बस स्टैंड होते हुए धान मंडी पहुंचे। इस दौरान जिन क्षेत्रों से होकर जुलूस निकला, वहां से भी लोग शामिल होते गए।

जुलूस पिंजारवाड़ी क्षेत्र में पहुंचा। वहां पुलिस ने पहले से प्रतिबंधित क्षेत्र घोषित कर बैरिकेड्स लगा रखा था। जुलूस में शामिल कुछ लोगों ने बैरिकेड्स फांदने की कोशिश की। जवानों ने रोका तो उन्होंने पुलिस ने झड़क कर पत्थरबाजी शुरू कर दी। पुलिस ने एक घंटे की मशक्कत के बाद उपद्रव शांत कराया।

Ruckus in Dhar in Eid Milad-un-Nabi procession, police lathi-charged | बैरिकेड्स फांद रहे लोगों को रोका तो धक्का-मुक्की कर पत्थर फेंके, पुलिस ने लाठियों से खदेड़ा - Dainik Bhaskar

कलेक्टर डॉ. पंकज जैन ने कहा कि पुलिस जांच कर रही है। जिन्होंने नियम तोड़ा है, जुलूस खत्म होने के बाद उन पर कार्रवाई की जा रही है। जुलूस के दौरान हुई झड़प में किसी के घायल होने की सूचना नहीं है।