सुनने के लिए क्लिक करें

श्री रामचन्द्र खराडी जी कल्याण आश्रम के
नए राष्ट्रीय अध्यक्ष

नागपुर दि. 11 – राजस्थान के प्रतापगढ़ निवासी श्री रामचन्द्र खराडी जी को केन्द्रीय कार्यकारी मण्डल ने कल्याण आश्रम के तीसरे राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में चुना है। आज नागपुर में हुई अखिल भारतीय कार्यकारिणी की बैठक में यह नियुक्ति की गई।

श्रद्धेय बाला साहब देशपाण्डेजी के निधन के बाद 1995 से लेकर माननीय जगदेवराम उरांव जी ने सुदीर्घ 25 वर्ष कल्याण आश्रम का नेतृत्व किया था। 15 जुलाई 2020 को जशपूर में मा.जगदेवरामजी के निधन होने के कारण के यह पद रिक्त हुआ था।

श्री रामचन्द्र खराडीजी का जन्म १५ जनवरी 1955 में राजस्थान के उदयपुर जिला के खरबर गाँव मे एक भील जनजाति परिवार में हुआ। स्नातक तक की पढ़ाई के बाद उन्होंने सरकारी सेवा में प्रवेश किया। तहसीलदार, सब डिविजनल मजिस्ट्रेट, अतिरिक्त जिला अधिकारी आदि सरकारी पदों में रहकर राजस्थान के विभिन्न जिलों में उन्होंने कार्य किया।

भूमि संबंधी मामलों का निपटारा करने हेतु उन्होंने सरकारी पद पर रहकर काफी सराहनीय कार्य किया। इसके कारण सरकारी कामकाज के क्षेत्र में श्री खराडीजी का नाम काफी चर्चित रहा।

2014 में सरकारी सेवा से स्वेच्छिक निवृत्ति लेकर धार्मिक एवं सामाजिक कार्य में सक्रिय भूमिका निभाते रहे। जनजाति समाज के परंपरागत धर्म – संस्कृति की रक्षा के साथ साथ गायत्री परिवार के कार्य से भी 1995 में उनका संपर्क आया।

उनके नेतृत्व में 17 स्थानों पर गायत्री माता मंदिर निर्माण कार्य हुआ। 108 कुण्डीय गायत्री महायज्ञ में यजमान की भी भूमिका उन्होंने निभाई थी। कई स्थानों पर सामूहिक विवाह कराने में भी उन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

उनका कल्याण आश्रम से संपर्क 2003 में डुंगरपुर कल्याण आश्रम के भवन निर्माण के समय में आया। 2016 में वे राजस्थान के अध्यक्ष बने। 2019 में दुबारा इस दायित्व के लिये वे चुने गये। गत दो वर्षों से वे कल्याण आश्रम के राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य के रूप में भी कार्यरत थे।

गत पांच वर्षों में कल्याण आश्रम के सभी अखिल भारतीय कार्यक्रम में उनका सानिध्य देश भर के कार्यकर्ताओं को प्राप्त हुआ। देश भर के सभी प्रमुख कार्यकर्ताओं के साथ उनका अच्छा संपर्क भी स्थापित हो चुका है। विचारों में स्पष्टता के साथ प्रभावी वक्ता के रूप में भी उनका परिचय कार्यकर्ताओं के बीच में बना हुआ है।

2017 के संत ईश्वर सेवा पुरस्कार श्री खराडीजी को प्राप्त हुआ था। पूजनीय बालासाहब देशपाण्डेजी और श्रद्धेय जगदेवराम जी के पदचिन्हों पर चलकर कल्याण आश्रम कार्य को उत्तरोत्तर बढ़ाने का गुरुत्तर दायित्व श्री रामचन्द्र खराडी पर आया है।

योगेश बापट
महामंत्री,
अखिल भारतीय वनवासी कल्याण आश्रम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here