लोकभाषा में साहित्य जिन्दा रहेंगे

0
336
सुनने के लिए क्लिक करें

 

लोक भाषा में जिंदा रहेंगी तो साहित्य जिंदा रहेगा उस के विकास के लिए उनका अलग से संकलन होना आवश्यक है पुस्तक मेला बहुत ही बड़ा आकर्षण का केंद्र है आज इस योग में साहित्य सृजन बहुत हो रहा है काव्य गोष्ठी एवं कवि सम्मेलन इनकी  संख्या भी घट रही है आज इंटरनेट के युग में भले ही कंप्यूटर पर लोगों की निर्भरता बढ़ गई है किंतु इस तरह के आयोजन निरंतर होते रहने चाहिए तभी साहित्य जिंदा रहेगा । हम अपने अध्ययन शक्ति को राष्ट्रीय साहित्य के माध्यम से ही बढ़ा सकते हैं उक्त उद्गार पुस्तक मेले की आसंदी से कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रोफेसर योगेश चंद्र दुबे ने व्यक्त किए

पुस्तक मेला निरंतर 8 वर्षों से अनेक कठिनाइयों के बावजूद इस कटनी की धारा में आयोजित किया जा रहा है यह निश्चित ही इस बात का प्रतीक है कि आज कटनी में कहीं ना कहीं साहित्य जिंदा है और हम लोग यह प्रयास करें कि आगे भी यह निरंतरता बनी रहे उक्त कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि महापौर शशांक श्रीवास्तव द्वारा व्यक्ति किए गए

कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि के रूप में पधारे पंजाब नेशनल बैंक के मंडल प्रमुख अमरेश प्रसाद ने अपने उद्बोधन में कहा कि आज नई पीढ़ी में निश्चित रूप से पठनीयता की कमी आती जा रही है आज ऐसे आयोजन सभी जगह होने चाहिए पंजाब नेशनल बैंक हर तरह से समाज में इस तरह की सकारात्मक गतिविधियों में अपना योगदान देता आया है और देता रहेगा

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे संदीप जायसवाल विधायक कटनी द्वारा अपने उद्गार में कहा कि यह मेरा सौभाग्य है कि निरंतर कई वर्षों से इस पुस्तक मेले में मुझे आने का सौभाग्य मिल रहा है इस पुस्तक मेले में हमेशा हमारा यह प्रयास रहा है इसे अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाया जाए और हम यह प्रयास करेंगे कि हमारा सहयोग इसमें जिस तरह से प्रदान किया जा सके वह हम निरंतर प्रदान करेंगे कटनी में साहित्यिक संखला को बढ़ाने के लिए कटनी में आधुनिक लाइब्रेरी का निर्माण शासन द्वारा कराया गया है और आगे भी इस तरह के प्रयास किए जाते रहेंगे मुझे बहुत खुशी हो रही है कि यह पुस्तक मेला आज इतना वृहद रूप ले चुका है यह हमारे कटनी नगर व जिले के लिए सौभाग्य का विषय है

READ  नागरिकता संशोधन अधिनियम पर छात्रों को किया जा रहा गुमराह

कार्यक्रम के अगले चरण में प्रिया सोनी द्वारा सुंदर भजन की प्रस्तुति की गई संपूर्ण कार्यक्रम का संचालन आशीष गुप्ता द्वारा किया गया कार्यक्रम अध्यक्ष मनोज आनंद पप्पन द्वारा अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में छह दिवसीय पुस्तक मेले का सर सभी अतिथियों के सम्मुख प्रस्तुत किया इसके पश्चात समस्त अतिथियों द्वारा विभिन्न प्रतियोगिताओं का पुरस्कार वितरण किया गया

कार्यक्रम के अंत में आभार प्रदर्शन समिति के संयोजक अरुण सोनी द्वारा किया गया ।कार्यक्रम में सैकड़ों की संख्या में शहर के गणमान्य नागरिकों माताओं बहनों एवं बच्चों की उपस्थिति रही

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here