खाली जगह को अच्छे कार्यों के प्रचार से भरना चाहिये – डॉ. मोहन भागवत जी

0
153

सरसंघचालक मोहन भागवत जी ने कहा कि हमारा उद्देश्य कोई प्रसिद्धि हासिल करना नहीं, बल्कि अच्छे कार्यों को जन-जन तक पहुंचाना है. ताकि उसका लाभ इस समाज को मिल सके. हमारा कार्य तो नेकी कर और कुएं में डालने जैसा है. हमें किसी भी प्रकार की प्रसिद्धि की आवश्यकता नहीं है, लेकिन अगर अच्छे कार्यों का प्रचार-प्रसार नहीं किया जाएगा तो उसकी जगह दूसरे तरह के कार्यों का प्रचार-प्रसार होगा. इसलिये खाली जगह को अच्छे कार्यों के प्रचार से भरना चाहिये. हमें आवश्यकता नहीं है, लेकिन अगर हम नहीं करेंगे तो वो लोग करने लग गए, जिन्हें नहीं करना चाहिये था.

आज इस तरह के साधन मौजूद हैं, जिससे पल भर में ही पूरे देश और दुनिया तक अपनी बात पहुंचाई जा सकती है. ऐसे में यह जरूरी हो जाता है कि अच्छे कार्यों को जन-जन तक पहुंचाया जाए. इसलिए किसी व्यक्ति अथवा संस्थान की प्रसिद्धि के लिए नहीं, बल्कि अच्छे कार्यों को जन-जन तक पहुंचाने के लिए उनका प्रचार-प्रसार बेहद आवश्यक है. उन्होंने कहा कि जिस तरह से भगवान वामन ने तीनों लोक अपने कदमों से नाप लिए थे, मैं शुभकामनाएं देता हूं कि उसी तरह आप का प्रयास भी पूरे ब्रह्मांड को माप ले. उन्होंने कहा कि संसाधनों को अगर सही दिशा में लगाया जाए और अच्छे कार्यों का प्रचार-प्रसार किया जाए तो यह समाज के हित में होगा. उन्होंने विद्या भारती पंजाब की प्रचार विभाग टीम को इस उपलब्धि के लिए शुभकामनाएं दी. उन्होंने विद्या भारती की मासिक पत्रिका सर्वहित संदेश के अक्टूबर माह के पर्यावरण विशेषांक का भी विमोचन किया. इस पत्रिका की प्रसार संख्या 19,200 है.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here